भारतीय सेना : पाकिस्तान पर पलटवार सेना बना रही है गुप्त योजना

भारतीय सेना पाकिस्तानी सेना की बबर्रता का करारा जवाब देने के लिए कई विकल्पों पर काम कर रही है। सेना ने सीमा पर घुसपैठ रोकने के लिए सतर्कता बढ़ा दी है और दक्षिण कश्मीर में आतंकियों की तलाश के लिए बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। सेना ने 778 किलोमीटर लंबी नियंत्रण रेखा पर मोर्टार हमले और अन्य ऑपरेशन करके पाकिस्तानी सेना पर दबाव बढ़ा दिया है। बता दें कि पाकिस्तानी सेना ने एक मई को कृष्णा घाटी में सीजफायर का उल्लंघन किया था और दो जवानों के सिर काट लिए थे। गौरतलब है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में भारत द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक की घटना के बाद पाकिस्तानी सेना ने इस तरह की बर्बरता तीसरी बार की है।

सेना प्रमुख बिपिन रावत ने गुरुवार को कहा, ‘जब इस तरह की बर्बर घटना होती है तो हम भी जवाबी कार्रवाई करते हैं। हम पहले भी ऐसा कर चुके हैं। लेकिन सेना भविष्य की योजनाओं के बारे में बात नहीं करती है। हम कोई भी जानकारी काम पूरी होने के बाद देते हैं।’ सेना के आकलन के अनुसार नियंत्रण रेखा के नजदीक करीब 50 आतंकी लॉन्च पैड हैं। इसके अलावा पाकिस्तान और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में 15 बड़े ट्रेनिंग शिविर भी हैं। भारतीय खुफिया एजेंसियों ने 5-6 BAT शिविरों की भी जानकारी दी है। ये शिविर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के 10-12 किलोमीटर अंदर हैं। BAT में पाकिस्तान सेना के स्पेशल कमांडो भी शामिल हैं।

आतंकियों की मदद कर रहे स्थानीय लोग
सुरक्षा बलों के पास सटीक जानकारी है की इन इलाक़ों में आतंकी खुले आम घूम रहे हैं और गांव वाले भी उनकी मदद कर रहे हैं। आतंकियों को उनके छुपे हुए इलाकों से निकलना है और लोगों में यह भरोसा जगाना है कि कानून-व्यवस्था अभी भी कायम है।
हाल के दिनों में हुई हैं कई आतंकी घटनाएं
शोपियां में मंगलवार की रात को कुछ आतंकियों ने पुलिसकर्मियों पर हमला कर उनसे पांच राइफल छीन ली थी। आतंकियों ने जिला अदालत परिसर में तैनात पुलिसकर्मियों को बंधक बनाकर उनके हथियार लूट लिए थे। इससे पहले 1 मई को आतंकवादियों ने कुलगाम में कैश वैन लूट लिया था। उस वारदात में पांच पुलिसवालों सहित दो बैंक कर्मचारियों की मौत हो गई थी। पुलिसवालों और बैंक कर्मचारियों को आतंकवादियों ने उनकी गाड़ियों से बाहर घसीटकर मार डाला था।

indian army

उधर सेना पहाड़ों पर बर्फ पिघलने के बाद अब फिर से घुसपैठ की घटनाओं में तेजी आने की आशंका जता रही है। घुसपैठ की इन घटनाओं को पाकिस्तानी सेना और ISI की मदद से अंजाम दिया जाता है। जनरल रावत ने कहा, ‘हम इसे रोकने के लिए कई कदम उठा रहे हैं और घुसपैठ रोकने के लिए काउंटर कदम उठा रहे हैं।’

जनरल रावत ने कहा कि शोपियां जिले में बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान जारी है। राष्ट्रीय रायफल्स के करीब 1,500 जवान, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस के जवान इस अभियान में शामिल हैं। उन्होंने कहा, ‘हाल के दिनों में कुछ बैंकों में लूट और कुछ पुलिसवालों की हत्या के बाद इस अभियान को अंजाम दिया जा रहा है।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

NEWS © 2017 Frontier Theme